Back

खोपोली: महावितरण स्टाफ सुभाषनगर और जगदीशनगर के पेडींग बिलवालो से कर रहे है वसुली कर्मचारी बन गए हैं, वसुली एजंट

खोपोली: महावितरण स्टाफ सुभाषनगर और जगदीशनगर के पेडींग बिलवालो से कर रहे है वसुली कर्मचारी बन गए हैं, वसुली एजंट


 100 - 200 रुपये के लिये ग्राहको को किया जा रहा है परेशान...पैसे देने से तीन - तीन महीने का कनेक्शन नहीं काटा जाता ... लेकिन अगर आप भुगतान नहीं करते हैं, तो बिजली कनेक्शन कट हो जाता है।


खोपोली शहर के सुभाषनगर और जगदीशनगर क्षेत्र के महावितरण कर्मचारी बन गए हैं, वसुली एजंट।  हर महीने बिजली का बिल आने के पांच से छह दिनों के भीतर ही पाटिल और उनके सहयोगियों सुभाषनगर और जगदीशनगर में लिस्ट लेकर घर- घर घुमतें है। और  चक्कर लगाते और बिलों का भुगतान करो वरना बिजली काट देंगे ऐेसी धमकी औरतो, बच्चो और बुढो को देते है।  यदि बिल का भुगतान नहीं किया जा सकता है, तो चुपके से 100-200 रुपये के लिए फिर से कनेक्शन जोड़ जाते हैं।


सुभाषनगर में आज भी,  तीन महीने के बिल का भुगतान किया गया नही है, पर केवल दूसरे महीने के बिल का भुगतान नहीं किया जाने कि वजह से कोणतीही नोटीस दिये बीना। फँमिलीवाले घर पर ना होने पर चुपके दरवाजा खोलकर पाटील और उनका सहयोगी घर के दुसरे मजले पर गया, वहॉ पर मीटर के साथ छेडछाड करने बाद कनेक्शन काट दिया।  यदि बिजली शुल्क का भुगतान न करने के कारण ग्राहक की बिजली आपूर्ति काट दी जाती है, तो ग्राहक को अलग-अलग नोटिस के माध्यम से बिजली की आपूर्ति के वियोग का अग्रिम नोटिस देना होता है। ऐसा नोटिस ग्राहक को कम से कम पंद्रह दिन पहले देना जरूरी होता है, विद्युत अधिनियम के अनुच्छेद 56 में ऐसा कहा गया है। ग्राहक से रसीद प्राप्त करना और बिल में उल्लेख किए बिना भी उसे सूचित करना आवश्यक है, लेकिन नोटीस दिये बिना किसी कानूनी कार्रवाई का हवाला न लेते हुऐ।  100-200 रुपये न देने पर पाटिल और उनके सहयोगी सुभाषनगर में बिजली काट देते है। क्या वसुली का अधिकार खोपोली महावितरण के वरिष्ठ अधिकारीयों सहमती से हो रहा है क्या? दुसरा महिना पुरा होने पर बिजली काट दि गयी और बाकी पेडींग बिल ग्राहको के घर चहापाणी पिनेसे बिजली कैसे शुरू है, इसका जवाब महावितरण के वरिष्ठ अधिकारी देंगे क्या?


रिपोर्टर फिरोज़ पींजारी खोपोली