Back

कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में कैशबीन संगठित खड़ा है; 50,000 से ज्यादा भारतीयों को सीएसआर सहयोग दिया

कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में कैशबीन संगठित खड़ा है; 50,000 से ज्यादा भारतीयों को सीएसआर सहयोग दिया


पीएम केयर्स फंड में  1 मिलियन रु. का योगदान दिया

50,000 से ज्यादा भारतीयों को आवश्यक सैनिटेशन सामग्री वितरित की

भारत में कैशबीन मैनेजमेंट एवं कर्मचारी पीएम केयर्स फंड में योगदान देने के लिए एकजुट हुए

भारत, 28 अप्रैल, 2020। पूरी दुनिया मुश्किल दौर में है और संकट का सामना कर रही है। कोरोना वायरस (कोविड-19) लगभग हर स्थान पर पहुंच चुका है और भारत भी इससे अछूता नहीं रहा। यह हम सभी के लिए चुनौतीपूर्ण समय है और हम अपने समुदाय को सेवाएं देने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

कोविड-19 की महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में अपना सहयोग देने के लिए अग्रणी माईक्रो-लेंडिंग एप्लीकेशंस में से एक, कैशबीन ने इन-डीड फाउंडेशन के साथ आज इस चुनौतीपूर्ण समय में भारतीयों को सशक्त बनाने व सहयोग करने के लिए अनेक अभियानों की घोषणा की।

कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारतीय पूरी तरह से सशक्त, सुरक्षित व उत्साहित रहें, यह सुनिश्चित करने के लिए कंपनी 50,000 से ज्यादा भारतीयों को फूड एवं सैनिटेशन सामग्री, जैसे सैनिटाईज़र्स, लिक्विड सोप, कॉटन मास्क एवं अन्य होम क्लीनिंग उत्पाद प्रदान कर रही है। इसके अलावा कैशबीन स्थानीय समुदायों को अपना सहयोग देने के लिए पीएम केयर्स फंड में दस लाख रु. का योगदान देगा।

मिस इलिसा चौहान, वाईस-प्रेसिडेंट, कॉम्प्लायंस एंड पार्टनरशिप्स, पीसी फाईनेंशल सर्विसेस प्राईवेट लिमिटेड ने कहा, ‘‘कैशबीन में हम अपने एक्सेसिबल माईक्रो-लेंडिंग ऐप द्वारा जरूरत के समय समुदायों को सहयोग करने के लिए सदैव से समर्पित रहे हैं। इस समय हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि भारत के परिवारों को फूड एवं सैनिटेशन उपकरण प्राप्त हो सकें, ताकि वो कोविड-19 की महामारी के दौरान सुरक्षित व सेहतमंद रह सकें।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम हर उस व्यक्ति के आभारी हैं, जो कैशबीन में मैनेजमेंट एवं कर्मचारियों के रूप में काम करता है तथा 50,000 से ज्यादा भारतीयों के चेहरों पर मुस्कान लाने के लिए पीएम केयर्स फंड में योगदान देने के लिए एकजुट होकर आगे आया है।’’

इस प्रयास में कैशबीन का एनजीओ पार्टनर, इन-डीड फाउंडेशन पूरे भारत में फूड पैकेट्स, पैकेजिंग एवं डिस्ट्रीब्यूशन के प्रोक्योरमेंट में सहयोग करेगा।

श्री विक्रम राजोला, चेयरमैन, इन-डीड फाउंडेशन ने कहा, ‘‘हमें खुशी है कि कैशबीन कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की लड़ाई में इन-डीड फाउंडेशन के साथ शामिल होकर अपना योगदान दे रहा है। हमारे कार्यकर्ताओं एवं पार्टनर नेटवर्क द्वारा हम उन सभी को मदद पहुंचाएंगे, जिन्हें इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है। जरूरतमंदों में आवश्यक सामग्री प्रदाता, वेंडर्स एवं छोटे दुकानदार, पुलिसकर्मी एवं सैनिटेशन कर्मचारी आदि तथा भीड़भरी झुग्गियों व पुनर्वास कॉलोनियों में रहने वाले लोग शामिल हैं। कैशबीन के साथ हम निरंतर यह सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहे हैं कि इस अनिश्चित समय में हम लोगों को सहयोग कर उन्हें सशक्त बना सकें।’’

इस मुश्किल दौर में हमारे समुदाय को फाईनेंशियल मदद के अलावा भी सहयोग चाहिए। खासकर भूखे व गरीब लोगों की देखभाल की बहुत आवश्यकता है, जिन्हें लॉकडाऊन के कारण भोजन भी उपलब्ध नहीं हो पा रहा। मिस अंजलि अग्रवाल, एचआर हेड, पी सी फाईनेंशल सर्विसेस प्राईवेट लिमिटेड ने एनजीओ, ‘रॉबिन हुड आर्मी’ के साथ मिलकर काम करते हुए गुरुग्राम एवं आसपास के समुदायों में भूख से पीड़ित नागरिकों को सहयोग पहुंचाया तथा गरीब व भूखों को भोजन उपलब्ध कराया। भूख के संकट ने अनेक लोगों को अपने चंगुल में फंसा लिया है तथा कैशबीन को ‘रॉबिन हुड आर्मी’ के साथ साझेदारी करने पर गर्व है। यह गरीबों को सहयोग करने के अपने प्रयास जारी रखेगा।’’

इसके अलावा कैशबीन ने देश के एक जिम्मेदार कॉर्पोरेट के रूप में कोविड-19 की महामारी के कारण उत्पन्न हुई स्थिति को समझकर विलंबित भुगतान पर 1 मार्च से 31 मई, 2020 के बीच लगने वाली पैनल्टी को हटाने का निर्णय लिया है। कंपनी आरबीआई के दिशानिर्देशों के अनुरूप अपने ग्राहकों को 31 मई, 2020 तक मोरेटोरियम भी दे रही है।

कैशबीन कोविड-19 से लड़ाई में भारत सरकार एवं संबंधित राज्य सरकारों के गहन प्रयासों की सराहना करता है। इस योगदान द्वारा कैशबीन इन प्रयासों में सहयोग कर रहा है तथा इस मुश्किल समय में भारतीयों की सेहत सुनिश्चित करने की अपनी प्रतिबद्धता पर बल दे रहा है।

भविष्य में कैशबीन जरूरत पड़ने पर समुदायों को सहयोग व सुरक्षा प्रदान करना जारी रखेगा।


संवाददाता शोएब म्यानुंर की रिपोर्ट