Back

युपी के बरेली में कोरोना महामारी के चलते शराफत मियां की दरगाह में देखने को मिला लोक डाउन का असर।

युपी के बरेली में कोरोना महामारी के चलते शराफत मियां की दरगाह में देखने को मिला लोक डाउन का असर।


बता दें की भारत के साथ साथ युपी के बरेली में कोरोना महामारी के चलते देखने को मिला लोक डाउन का असर।

जीहां दोस्तों हम बात कर रहे हैं बरेली के शाहबाद मोहल्ला में आए आस्ताना ए आलीया दरगाह शाह शराफत अली मींया की तो यहां अगर आम दिनों की बात करें तो रोजाना दो टाईम यहां खाना बनता है यानी साल में पुरे 365 दीन रोजाना दोनों टाईम दोपहर में और साम को यहां लंगर खाना बनाया जाता है और यहां पर अकीदत मंदो की भीड़ हो जाया करती है यहां ईस दरगाह शाह शराफत अली मींया में सुबहा साम फातेहा ख्वानी के बाद लोगों को खाना खीलाया जाता है।

लैकिन आज जब्की पुरा देश लोक डाउन में घेरा हुआ है। पुरे देश में धारा 144 लगी हुई है सभी मंदिर, मस्जिद बंद कर दिए गए हैं  ऐसे हालात में बरेली में भी शाह शराफत अली मींया दरगाह को 22 अप्रैल से ही बंद कर दिया गया।

विडीयो में आप साफ देख रहे हैं शाहबाद मोहल्ला की गलियां और शाह शराफत मियां हुजूर का रौजा मुबारक जहां पर पुरा सन्नाटा छा गया है।

लेकिन यहां आज भी लोगों के लिए खाना बनाने का काम सुरु है। और लोगों के घर घर जा कर खाना खिलाया जाता है। आज जबकी रमज़ान का महीना सुरू हो गया ऐसे में रोजाना साम को यहां लंगर खाना बनाया जाता है और लोगों को घर घर जाकर खाना दिया जाता है।

हज़रत शाह सक़लैन एकेडमी ऑफ ईन्डिया बरेली में जरुरत मंदो को अनाज और राशन के बैग भी तकसीम कीए गए।

बता दें कि दरगाह के शज्जादा नशीन पीरो मुर्शिद शाह मोहम्मद सक़लैन मिंया हुजूर ने रमजान महीने को लेकर लोगों को अपने अपने घरों में ही नमाज अदा करने को कह दिए हैं।

  

केमेरा मेन नदीम शैख के साथ 

संवाददाता शोएब म्यानुंर की रिपोर्ट