Back

CAA पर महारष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान इससे सिर्फ मुस्लिमों ही नहीं बल्कि हिन्दुओं और दलित आदिवासियों पर भी पड़ेगा असर.

CAA पर महारष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान इससे सिर्फ मुस्लिमों ही नहीं बल्कि हिन्दुओं और दलित आदिवासियों पर भी पड़ेगा असर.      


देश के कई राज्यों में नागरिकता कानून को लेकर विरोध प्रदशन जारी है ग़ैर बीजेपी शासित राज्य केरल. पंजाब. राजस्थान और पश्चिम बंगाल इसके खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव कर चुके हैं. तेलंगाना सरकार CAA के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने की तैयारी कर रही है महाराष्ट्र में भी इसको लेकर चर्चा जारी है लेकिन सत्तारूढ़ तीनों दलों के बिच आम राय नहीं बन पा रही है. 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अब इस मुद्दे को लेकर पहेली बार सार्वजनिक तौर पर अपनी चुप्पी तोड़ी है. पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में उनहोंने कहा की CAA, NRC और NPR तीनों अलग-अलग हैं लेकिन CAA से किसी को डरने की जरुरत नहीं है. महाराष्ट्र में इसे लागू नहीं होने दिया जाएगा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आगे कहा अगर NRC लागू होता है तो ये सिर्फ हिन्दुओं और मुस्लिमों को ही नहीं बल्कि आदिवासियों को भी प्रभावित करेगा 

उद्धव ठाकरे ने NPR  को लेकर कहा की यह जनगणना है जो हर दस साल में होती है और मुझे नहीं लगता की इससे कोई प्रभावित होगा. इसके सारे कॉलम की जानकारी मैं खुद पढूंगा इसके बाद ही इसे लागू किया जाएगा अब देखना ये है की अघाड़ी सरकार में शामिल बाकी दल इस पर क्या प्रतिक्रया देतें हैं.


रिपोर्टर शमा ईरानी मुंबई