Back

मुंबई के शाहीन बाग में CAA, NRC, और NPR का विरोध महिलाएं उतरी सड़कों पर डबल मिडिया कवरेज ।

मुंबई के शाहीन बाग में CAA, NRC, और NPR का विरोध महिलाएं उतरी सड़कों पर डबल मिडिया कवरेज ।


मुंबई के शाहीन बाग में जायजा लेने INN न्यूज़ नेटवर्क और VATSALYA न्यूज़ के फैजुल़ शैख और VATSALYA न्यूज़ के शोएब म्यानुर

दोनों रिपोर्टर एक साथ पहली बार पहोंचे 

आज जबकि भारत का पतन हो रहा है परन्तु हर कोई बहस में व्यस्त है,

भारत-पाकिस्तान

370-कश्मीर

हिंदू-मुस्लिम

मन्दिर - मस्जिद

सीएए, एनआरसी, एनपीआर_ आदि। 

चलिए ज़रा ध्यान देते हैं कि भारत में दरअसल हो क्या रहा है... 

भारत का वास्तविक डेटा और उसकी स्थिति आज की अर्थव्यवस्था के मद्देनजर आज हम पहोंचे

मुंबई के शाहीन बाग में वहां जाके हम ने वहां  की महिलाओं से और उनको सपोर्ट कर रहे कुछ राजनीतिक दलों से हम ने पूछा सभी का कहना है कि भारत सरकार ने जो बिल पास किया है नागरिकता कानून का CAA, NRC, और NPR को लागू किया है जिसके कारण उसका असर आदीवासी, दलित समुदाय, मुस्लिम समुदाय, हिंदु समुदाय के उन गरीब और छोटे परीवार पर पड़ेगा जिनके पास ना तो रहने के लिए घर है नाही पहेन ने के लिए कपड़ा, तो क्या ये सब जो पहले से ही भारत में रह रहे हैं वो सब भारतीय नहीं है हमें सरकार से जवाब चाहिए,

एक छोटी बच्ची शीफा परवेज़ ने तो यहां तक केह दिया पहेले अमीत शाह आप अपना कागज पेहले दिखाएं फिर हम दिखाएंगे वहां हिंदु, मुस्लिम, शीख, ईसाई सभी जाती के लोग उपस्थित थे

महिलाओं में एन जी ओ मैमुना अंसारी, पुर्व पुलिस कमिश्नर मुंबई पुलिस के शमशैर खान पठान, ए आई एम आई एम के मुंबई प्रमुख फयाज अहमद साहब, रहेवासी  व्रजेश शर्मा, श्रिमती रेखा शर्मा, स्वामी बहुदत महावेश,  अशरफ शैख, ईर्शाद सय्यद से हम मिले और और उनको जब हमने सवाल किए CAA, NRC, और NPR के बारे में तो सभी ने एक बात बताई

भारत सरकार जल्द से जल्द CAA, NRC, और NPR के ईस बिल को हटाएं, जब तक यह कानुन नहीं हटेगा तब तक मुंबई का शाहीन बाग बंध नहीं होगा,

 महिलाएं और बच्चे यहां रात दिन ईस कानुन का विरोध कर रहे हैं,

और जल्द से जल्द नागरिकता कानून हट जाए उसके लिए दुआएं कर रहे हैं,


रिपोर्टर फैजुल़ शैख और शोएब म्यानुर मुंबई